संस्कृति और त्यौहार

हरिद्वार एक ऐसा स्थान है जहां वर्ष भर विभिन्न मेलों का आयोजन पूरे उत्साह के साथ किया जाता रहा है, जैसे कि सोमवती अमावस्या, कार्तिक पूर्णिमा,श्रावण पूर्णिमा,गंगा दशहरा और हिंदू कैलेंडर के अन्य महत्वपूर्ण स्नान तिथियां। श्रावण के महीने में होने वाला कांवड़ मेला बहुत लोकप्रिय है जिसमें भगवान शिव के लाखों भक्त हरिद्वार में गंगा नदी का पवित्र जल लेने के लिए आते हैं। इसके अलावा विश्व प्रसिद्ध कुंभ मेला और अर्ध कुंभ मेला क्रमशः 12 और 6 वर्ष के अंतराल पर लगता है जिसको किसी भी परिचय की आवश्यकता नहीं है। इसके अतिरिक्त जिला प्रशासन द्वारा हरिद्वार महोत्सव गंगा नदी के किनारे पर 3-4 दिन का सांस्कृतिक उत्सव और आयुर्वेद महोत्सव का भी आयोजन किया जाता रहा है। इसके अलावा पिरान कलियर के पवित्र दरगाह में प्रतिवर्ष उर्स का आयोजन किया जाता है जिसमें सभी संप्रदायों के लोग भाग लेते हैं और अपने कल्याण के लिए प्रार्थना करते हैं।
हर की पोड़ी